Patang [Makar Sankranti Kite Festival 2023] => घर पर कागज की पतंग कैसे बनाये | How to make Kite at home in hindi?

Kagaj Ki Patang (2023): जाने घर पर कागज़ की पतंग कैसे बनाते है?  || How to make Kite of Paper at home in hindi?

आज हम इस लेख के माध्यम से यह जानेंगे की आखिर कैसे हम 1 पेपर अथवा कागज़ या फिर किसी बड़ी थैली को काटकर कैसे एक अच्छा सा पतंग बना सकते है. हालांकि कागज का यह पतंग बनाने में बहुत ही आसान है, फिर भी इसे बनाने में हमें सही तरीको का इस्तेमाल करना चाहिए, ताकि एक बेहतरीन पतंग बन सके. [Simple steps to make Kite at home in hindi]


मकर संक्रांति में पतंग उड़ाने की परंपरा सदियों से चली आ रही है. इस दिन देश-विदेश हर जगह लोग जोर शोर से पतंग उड़ाते है. बाजारों में पतंग की बिक्री मकर संक्रांति त्यौहार आने के पहले ही शुरू हो जाती है. लोग नए नए आकर और डिज़ाइन के पतंग खरीदते है. कुछ लोग तो पतंग घर पर ही बनाते है, इनमे से ज्यादातर बच्चे होते है और खासकर गावों के बच्चे. जब हम बच्चे थे, गावों में कागज की पतंग घर पर ही बनाके उड़ाते थे. तो आइये जानते है घर पर हम किस प्रकार कागज की पतंग बनाके उड़ा सकते है. [Know how to make Kite at home?]


इस लेख में हम घर पर पतंग बनाने की विधि के बारे में जानेंगे. [Ghar par patang kaise banaye hindi me?] आखिर कोई एक बच्चा घर पर आसानी से कैसे एक पतंग बनाके उड़ा सकता है. इस लेख में हम पतंग बनाने से संबधित सभी जानकारियों के बारे में बात करेंगे. साथ ही जानेंगे की मकर संक्रांति में पतंग उड़ाने के क्या महत्त्व है? तो आइये जानते है की कैसे एक सिंपल और अच्छा सा कागज की पतंग हम घर पर ही बना सकते है. [ How to make simple kite at home using paper in hindi?]

Kagaz ki Patang kaise banate hai? | How to make patang at home? | Patang kaise banate hai? | How to make kite home?
How to make a simple kite at home using paper in hindi?


घर पर कागज की पतंग बनाने के लिए, आपको निम्नलिखित सामग्री और उपकरण की आवश्यकता होगी || Below are the list of material you require to make a simple kite at home


कागज [Paper, ex: NEWS Paper]

रेखांकन पत्र

कटर [Catchy] 

कलम [Pen]

2 पतली डंडी [2 Thin Wooden Rod]

धागे [Threads, Manjha]

टेबल या रोलर [Pareta]


ये सामग्री आप घर पर आसानी से पा सकते हैं या आप इन्हें स्थानों से भी खरीद सकते हैं जैसे कि स्टोर, स्पॉर्ट्स स्टोर आदि. अगर आपके पास धागे नहीं हैं, तो आप धूप से सुखी रसोई ताजगी या कच्ची जूते की धागे भी इस्तेमाल कर सकते हैं. आपको अपने कागज को एक टेबल या रोलर पर ले जाना होगा, जहां आप इसे रेखांकित कर सकते हैं. अगर आपके पास एक रेखांकन पत्र नहीं है, तो आप अपनी कागज पर हस्तलिखित रेखांकन भी कर सकते हैं. [These are the material required to make simple kite at home using newspaper or any simple paper]


यह भी पढ़े 

👉 Makar Sankranti 2023: आखिर क्यों मनाया जाता है मकर संक्रांति का त्यौहार? जाने मकर संक्रांति का इतिहास, कारण, और पौराणिक महत्व

👉 Patang [Makar Sankranti Kite Festival 2023]: घर पर कागज की पतंग कैसे बनाये (How to make Kite at home in hindi?)

👉 https://stories.1bharatshreshthabharat.in/Kagaj-ki-patang-kaise-banate-hai/


यहाँ कागज का उपयोग करके एक साधारण पतंग बनाने के चरण दिए गए हैं  || Given list of step to make simple patang[kite]


  1. कागज के एक बड़े टुकड़े को हीरे के आकार में काट लें. यह आपकी पतंग की बॉडी होगी.
  2. पतंग की पूँछ के लिए कागज़ की दो पतली पट्टियाँ काटें. स्ट्रिप्स की लंबाई पतंग के शरीर की लंबाई से लगभग दोगुनी होनी चाहिए.
  3. दो पट्टियों को आधी लंबाई में मोड़ें और उन्हें पतंग के शरीर के निचले हिस्से में चिपका दें, दोनों तरफ एक.
  4. पतंग की रीढ़ के लिए कागज की एक पतली पट्टी काटें. पट्टी की लंबाई पतंग के शरीर की लंबाई के बराबर होनी चाहिए.
  5. पतंग के केंद्र के नीचे दौड़ते हुए, रीढ़ को पतंग के शरीर के शीर्ष पर गोंद करें.
  6. पतंग की लगाम के लिए कागज का एक छोटा टुकड़ा काट लें. पट्टी की लंबाई पतंग के शरीर की लंबाई की लगभग एक-चौथाई होनी चाहिए.
  7. लगाम को रीढ़ से बांधें, पतंग के ऊपर से लगभग एक तिहाई नीचे.
  8. पतंग उड़ाने की रेखा के लिए कागज की एक लंबी, पतली पट्टी काटें. पट्टी की लंबाई पतंग के शरीर की लंबाई से कई गुना अधिक होनी चाहिए.
  9. फ्लाइंग लाइन के एक छोर को लगाम से बांधें, और दूसरे छोर को स्पूल या वाइन्डर से बांधें.
  10. आपकी पतंग अब उड़ने के लिए तैयार है! बस एक हवादार जगह ढूंढें और इसे ऊंची उड़ान भरने दें.

Kagaz ki Patang kaise banate hai? | How to make patang at home? | Patang kaise banate hai? | How to make kite home?


घर पर कागज की पतंग बनाने की विधि क्या है? || What is procedure to make Kite at home in hindi?


घर पर कागज की पतंग बनाने की विधि निम्नलिखित है:


  • स्थान चुनें: पहले से ही स्वच्छ और सुरक्षित स्थान का चयन करें, जहां आप अपने कागज की पतंग बना सकते हैं.
  • कागज को उस स्थान पर ले जाएं: अपने कागज को टेबल या रोलर पर ले जाएं, जहां आप इसे रेखांकित कर सकते हैं.
  • रेखांकन करें: अगर आपके पास रेखांकन पत्र है, तो उसे इस्तेमाल करें. अन्यथा, अपनी कागज पर हस्तलिखित रेखांकन भी कर सकते हैं.
  • कट करे: कैची अथवा किसी अन्य धारदार वस्तु से उचित आकर में कट करे.
  • डंडी लगाए: कागज़ के ऊपर दोनों डंडी लगाए और किसी धागे से या किसी टेप अथवा फेविकोल से जोड़ de.
  • धागे लगाएं: अपने धागे को कागज के ऊपरी हिस्से पर लगाएं.
  • पतंग को सजाए: आप अपने पतंग को अपने हिसाब से सजा भी सकते है. अब आपकी पतंग हवा में उड़ने के लिए तैयार है. आप पतंग उड़ाने का मजा ले सकते है. (These are the steps to create kite in hindi)

Kagaz ki Patang kaise banate hai? | How to make patang at home? | Patang kaise banate hai? | How to make kite home?


मकर संक्रांति में पतंग उड़ाने के क्या महत्त्व है? || What is the importance of flying kites in Makar Sankranti in hindi?


[Makar sankranti me patang udaane ka mahatva kya hai?] => मकर संक्रांति काल में पतंग उड़ाना एक प्रसिद्ध तथ्य है. इस दिन हर जगह पतंग उड़ाए जाते हैं, और यह दृश्य काफी सुंदर दिखाई देते हैं.

माकर संक्रांति में पतंग उड़ाने का बहुत महत्व होता है. यह भारत के विभिन्न हिस्सों में मनाया जाने वाला एक प्रमुख त्यौहार है, जो कि हिन्दू कैलेंडर में मास मार्गशीर्ष से शुरू होता है. इस त्यौहार के दिन, लोग पतंग ऊठाते हैं और उनके साथ मज़े करते हैं.

पतंग ऊठाने का महत्व इसलिए होता है कि यह संक्रांति का प्रतीक होता है. इस त्यौहार के दिन, सूर्य दक्षिण राशि में प्रवेश करता है, जो कि मासिक मार्गशीर्ष को सूचित करता है. इसलिए, लोग पतंग उड़ाते हैं और सूर्य की यह प्रवेश मनाते हैं.

मकर संक्रांति के यह प्रतीक का महत्व हमारे संस्कृति में बहुत अहम है. इसे हमारे पुराणों में विषय किया गया है. पतंग उठाने से व्यक्तिगत विकास में भी योगदान होता है. यह एक जोरदार फैशनिक गतिविधि है जो आपको बहुत ही खुशियों से भरपूर बना सकती है. इससे आपको ताजगी महसूस होती है और आपका मानसिक स्वास्थ्य भी मजबूत होता है. (Importance of flying kite in hindi)


पतंग उड़ाने का इतिहास क्या है? || What is history of kites flying in ancient China in hindi?


[Patang udaane ka itihas kya hai?] => प्रत्येक वस्तु के इतिहास इतिहास के तरह ही पतंग का भी एक इतिहास है. माना जाता है कि लगभग 2800 वर्ष पहले पतंग उड़ाने की शुरुआत चीन देश में हुई थी. कहते है की चीन में पतंग का आविष्कार मोजी और लू बैन नाम के दो शक्श ने किया था. उस जमाने में पतंग का इस्तेमाल बचाव कार्य के लिए एक संदेश के रूप में, हवा की तीव्रता और संचार के लिए किया जाता था. परन्तु 5वीं शताब्दी ईसा पूर्व जिन उद्देश्यों से पतंग का आविष्कार किया गया था, वो उद्देश्य इस वक्त बदल से गए हैं और अब पतंग को केवल मनोरजन के रुप में इस्तेमाल किया जाता है. (History of flying kite in hindi)


भारत के अलावा और किन देशों में पतंग उड़ाए जाते है? || Apart from India, in which other countries are kites flown in hindi?


[Bharat ke alaava aur kin deshon mein patang udaae jaate hai?] => देखा जाए तो पुरे विश्व भर में पतंग उड़ाई जाती हैं. चीन देश से शुरू हुआ पतंग उड़ाने का ये चलन धीरे-धीरे पूरी दुनिया में फैल गया और इस समय दुनिया के तमाम कई देशों में पतंग उड़ाई जाती है. इन देशों की सूची में भारत, अमेरिका, मलेशिया और जर्मनी सहित कई और देशों के नाम शामिल हैं. वहीं हर देश में भिन्न भिन्न कारणों के वजह से पतंग त्यौहार उत्सव मनाया जाता है. जैसी चिली देश में स्वतंत्रता दिवस के दौरान वहां के निवासी पतंग उड़ाकर अपना स्वतंत्रता दिवस मनाते हैं. वहीं जापान में भी पतंग बाजी उनके देवता को खुश करने के लिए हर साल मई के महीने में की जाती है. इसके अलावा अमेरिका में जून के महीने में पतंग का त्यौहार मनाया जाता है और इससे जुड़े कई कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं. जिनमें वहां के लोग और बच्चे बढ़ चढकर हिस्सा लेते हैं. भारत में भी स्वतंत्रता दिवस के दिन और मकर संक्रांति के दिन पतंगें आसमान में उड़ती हुई देखी जाती हैं. (kites flown in various countries)


आखिर क्यों उड़ाई जाती है मकरसंक्रांति के दिन पतंग? || Why kite are flown on the day of Makar Sankranti in hindi?


धार्मिक मान्यताओं के अनुसार पतंगबाजी की परंपरा भगवान श्रीराम ने की थी, पुराणों में उल्लेख मिलता है कि मकर संक्रांति पर भगवान राम ने पहली बार पतंग उड़ाई थी और यह पतंग स्वर्ग में इंद्र के पास गई थी, तमिल के टंडनारामायण में भी इसका उल्लेख मिलता है, और माना जाता है की भगवान ने इस पतंग पर संदेश लिखकर इंद्रदेव को दिया था. माना जाता है कि मकर संक्रान्ति के दिन यदि आप अपनी मनोकामना लिखकर उसे उड़ाते हैं तो वह भगवान के पास पहुंच जाती है और आपकी मनोकामना पूरी हो जाती है.


मकर संक्रांति पर पतंग उड़ाते समय हमें कौन सी सावधानिया बरतनी चाहिए? || What precautions should we take while flying kites on Makar Sankranti in hindi?


मकर संक्रांति पर पतंग उड़ाते समय हमें बोहोत सी बातो का ध्यान रखना चाहिए ताकि इससे किसी इंसान या पशु पक्षी को नुक़सान न पहुंचे. इसके लिए आपको बेहद सतर्क और जागरूक रहने की जरूरत है. कुछ महत्वपूर्ण सावधानियां निचे दी गयी है, उन्हें जरूर अपनाएं =>

  • मार्किट से चीन की डोर (मांझा) के बजाए सामान्य मांझा खरीदकर लाएं. यह तुलनात्मक काम खतरनाक होता है, और इतना पक्का भी नहीं होता है, कि किसी पशु-पक्षी को घायल कर सके.
  • अगर घर में गलती से भी चाइना की डोर आ गई है, तो उसे बच्चों से दूर रखें और चाइना डोर के नुकसान और खतरे से अवगत कराएं.
  • पतंग उड़ाते समय भी विशेष रूप से ध्यान रखें. सामान्य धागे में भी कई बार कांच का मिश्रण लगा होता है. यह आपको नुकसान पंहुचा सकता है.
  • अगर बच्चे मिलकर पतंग उड़ा रहे हैं, तो बड़े इस बात का ख्याल रखें कि बच्चे किस प्रकार के मांझे का प्रयोग कर रहे हैं. वहां रहकर बच्चों पर ध्यान रखें.
  • पतंग के कहीं उलझने या टकराने पर उसे खींचने का प्रयास न करें. इससे संबंधि‍त वस्तु को नुकसान पहुंच सकता है, साथ ही आपके हाथ में भी चोट लग सकती है.
  • सुरक्षि‍त स्थान पर खड़े रहकर पतंग उड़ाएं और इस बात का विशेष ध्यान रखें कि मंझा किसी को स्पर्श न कर सके. इससे आसपास के लोग भी सुरक्षि‍त रहेंगे.


पतंग के त्यौहार [मकर संक्रांति] से जुड़े कुछ सवाल और उनके जवाब  || Frequently asked questions related to Makar Sankranti in hindi


पतंग के त्यौहार को क्या कहते हैं? || What is the festival of kites called in hindi?

[मकर संक्रांति| Makar Sankranti] => पतंग के त्यौहार को मकर संक्रांति (MakarSankranti) कहते है.


पतंगों का त्यौहार कब आता/ मनाया जाता है? || When is the festival of kites celebrated in hindi?

[जनवरी महीना | January] => पतंगों का त्यौहार अर्थात मकर संक्रांति जनवरी महीने में मनाया जाता है.


पतंग बनाने के लिए किन सामग्री का इस्तेमाल किया जाता है? || What are the materials used to make kites?

पतंग बनाने में इस सामानो का उपयोग किया जाता है जैसे की कागज [Paper, ex: NEWS Paper], रेखांकन पत्र, कटर, कलम, 2 पतली डंडी, धागे [थ्रेड्स, मांझा], रोलर


अंतरराष्ट्रीय पतंग महोत्सव 2023 कब से शुरू है? || When is the International Kite Festival 2023 starting?

[6 January] => अंतरराष्ट्रीय पतंग महोत्सव 2023 6जनवरी से शुरू है.


अंतरराष्ट्रीय पतंग महोत्सव 2023 कब तक चलेगा? || How long will the International Kite Festival 2023 last?

[15 January] => अंतरराष्ट्रीय पतंग महोत्सव 2023 15 जनवरी तक चलेगा.


साल 2023 में मकर संक्रांति कब है? || When is Makar Sankranti in the year 2023 in hindi?

[15 January] => साल 2023 में मकर संक्रांति 15 जनवरी को है.

 

मकर संक्रांति वर्ष 2023 में कब है? || When is Makar Sankranti in the year 2023?

[15 January] => मकर संक्रांति वर्ष 2023 में 15 जनवरी को है.


मकर संक्रांति का शुभ मुहूर्त क्या है 2023?  || What is the auspicious time of Makar Sankranti?

ग्रहों के राजा सूर्य 14 जनवरी 2023 की रात 8 बजकर 21 मिनट पर मकर राशि में प्रवेश करेंगे. ऐसे में इस प्रकार मकर संक्रांति इस वर्ष में 15 जनवरी 2023 को मनाई जाएगी. इस वर्ष 2023 में मकर संक्रांति का पुण्य काल सुबह 07 बजकर 15 मिनट से शुरू हो रहा है, तथा शाम 07 बजकर 46 मिनट पर समाप्त होगा.


मकर संक्रांति का नाम क्या अलग अलग जगहों पर अलग अलग है ? || Is the name of Makar Sankranti different in different places?

[Yes] => मकर संक्रांति विभिन्न राज्यों में अलग अलग नामो से मनाया जाता है.


मकर संक्रांति अलग अलग राज्यों किन नामो से जाना जाता है? ||  What are other names of Makar Sankranti in different states?

प्रत्येक राज्य में मकर संक्रांति को अलग अलग नामो से जाना जाता है. मकर संक्रांति को ही पोंगल, मगही, लोहड़ी, भोगली बिहू और उत्तरायणी आदि नाम से जाना जाता है. 


मकर संक्रांति में किसकी पूजा की जाती है? ||  Who is worshiped on the day of Makar sankranti?

[SuryaDev | Lord Son] => मकर संक्रांति के दिन भगवान सूर्य की पूजा की जाती है. बहुत से स्थानों पे मकर संक्रांति के दिन भगवान विष्णु व मां लक्ष्मी की भी पूजा की जाती है.


मकरसंक्रांति 2023 वाहन क्या है? || What is MakarSankranti 2023 vehicle?

[ Bagh | Tiger] => इस वर्ष 2023 में मकरसंक्रांति का वाहन Tiger यानि बाघ है.


मकर संक्रांति के दिन क्या दान में दिया जाता है? || What is donated on the day of Makar Sankranti?

मकर संक्रांति के दिन काली दाल, चावल, घी, नमक, गुड़ और काले तिल आदि दान में दिया जाता हैं.

Kagaz ki Patang kaise banate hai? | How to make patang at home? | Patang kaise banate hai? | How to make kite home?


यह भी पढ़े 

Makar Sankranti 2023: आखिर क्यों मनाया जाता है मकर संक्रांति का त्यौहार? जाने मकर संक्रांति का इतिहास, कारण, और पौराणिक महत्व

Merry Christmas 2023: आखिर क्रिसमस डे क्यों मनाया जाता है? 

Diwali : दिवाली क्यों मनाई जाती है, जानिये इसके पीछे की कहानियां और परंपराएं...

Navratri : जानिए आखिर वर्ष में 2 बार नवरात्री क्यों मनाया जाता है? 

Web Stories => https://stories.1bharatshreshthabharat.in/Kagaj-ki-patang-kaise-banate-hai/

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने