Why Padma Awards are given in Hindi: जानिए पद्म अवार्ड्स किसे, कब और क्यों दिया जाता है? | Know to whom, when and why Padma awards are given in hindi ?

Why Padma Awards are given in Hindi: लोगो को पद्म श्री पद्म भूषण पद्म विभूषण से सम्मानित क्यों किया जाता है? क्या है इसके नियम और क़ानून? | Why Padma Shri Padma Bhushan Padma Vibhushan Award is given in hindi?


पद्म पुरस्कार (Padma Awards), भारत सरकार द्वारा लोगो को दिया जाने वाला सर्वोच्च नागरिक सम्मान है जो जीवन के विभिन्न क्षेत्रों जैसे कि, कला, शिक्षा, उद्योग, साहित्य, विज्ञान, खेल, चिकित्सा, समाज सेवा और सार्वजनिक जीवन आदि में उनके विशिष्ट योगदान को मान्यता प्रदान करने के लिए दिया जाता है.

पद्म पुरस्कारो (Padma Awards announcement) की घोसना प्रत्येक वर्ष गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर की जाती है. इस वर्ष भी भारत सरकार ने पद्म पुरस्कार 2022 की घोषणा कर दी है. इस साल 2022 में चार हस्तियों को इस साल पद्म विभूषण सम्मान दिया जा रहा है. इसके साथ ही 17 हस्तियों को पद्म भूषण और 107 को पद्मश्री सम्मान से सम्मानित किया जा रहा है. 


भारत सरकार की ओर से मिलने वाले ये पद्म अवॉर्ड (Padma Awards) भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान में से एक हैं लेकिन क्या आप जानते हैं लोगो को पद्म श्री पद्म भूषण पद्म विभूषण से सम्मानित क्यों किया जाता है? क्या है इसके नियम और क़ानून? आज हम इस लेख में पद्म पुराकारो के इतिहास (Padma Awards History in Hindi) के बारे में सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करेंगे. साथ ही यह भी जानेंगे कि आखिर पहले इन्हें किन नामों से पुकारा जाता था और इसकी शुरुआत कैसे हुई. जानिए पद्म अवार्ड्स किसे, कब और क्यों दिया जाता है? (Why Padma Awards are given in Hindi) चलिए आज हम आपको बताते हैं पद्म पुरस्कार से जुड़ी कुछ खास बातें...


Why Padma Awards are given in hindi?
पद्म पुरस्कार | Padma Awards

पद्म पुरस्कार क्या होता है? | What is Padma Awards in Hindi?

पद्म पुरस्कार (Padma Awards) भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान होता है. पद्म पुरस्कार भारत के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कारों में से एक हैं. इसके अंतर्गत पहले क्रमश: भारत रत्न, पद्म विभूषण और पद्म भूषण का स्थान है. यह पुरस्कार, विभिन्न क्षेत्रों जैसे कला, समाज सेवा, लोक-कार्य, विज्ञान और इंजीनियरिंग, व्यापार और उद्योग, चिकित्सा, साहित्य और शिक्षा, खेल-कूद, सिविल सेवा इत्यादि क्षेत्र में उत्कृष्ट काम करने वाले लोगों को प्रदान किए जाते हैं.


Padma Vibhushan vs Padma Bhushan vs Padma Shri: भारत के सर्वौच्च नागरिक सम्मान पद्म विभूषण, पद्म भूषण तथा पद्म श्री उपाधि में क्या अंतर है?


पद्म पुरस्कार (पद्म श्री पद्म भूषण पद्म विभूषण अवार्ड) क्यों दिए जाते है? | Why Padma Awards are given in hindi?

पद्म पुरस्कार, भारत सरकार द्वारा दिया जाने वाला सर्वोच्च नागरिक सम्मान है. जो की नागरिकों द्वारा विभिन्न क्षेत्रो जैसे की कला, लोक-कार्य, विज्ञान और इंजीनियरी, व्यापार और उद्योग, चिकित्सा, साहित्य, शिक्षा, बिजनेस, साहित्य, साइंस, खेल, चिकित्सा, समाज सेवा या सार्वजनिक जीवन आदि में कोई खास योगदान दिया हो. इससे पहले क्रमश: भारत रत्न, पद्म विभूषण को सर्वोच्चम स्थान प्राप्त है. बाद में पद्म विभूषण और पद्म श्री है. भारत के नागरिक पुरस्कारों के पदानुक्रम में पद्म पुरस्कार द्वितीय श्रेणी का पुरस्कार है इससे पहले "भारत रत्न" का स्थान है.


पद्म पुरस्कार कब दिए जाते है? | When Padma Awards are given in Hindi?

पद्म पुरस्कारों से अलंकृत शख्सियतों के नाम की घोषणा प्रत्येक वर्ष गणतंत्र दिवस के अवसर पर की जाती है तथा सामान्यतः मार्च अथवा अप्रैल महीने में राष्ट्रपति भवन में आयोजित किये जाने वाले सम्मान समारोहों में भारत के राष्ट्रपति के द्वारा प्रदान किए जाते हैं.


Why Padma Awards are given in hindi?
Padma Awards
Padma Vibhushan Padma Bhushan Padma Shree


पद्म पुरस्कार के लिए कौन करता है सिफारिश? | Who recommends for the Padma Award in Hindi?


  • पद्म पुरस्कारों की सिफारिश राज्य सरकार/संघ राज्य प्रशासन, केन्द्रीय मंत्रालय या विभागों के साथ-साथ उत्कृष्ट संस्थानों द्वारा की जाती है.
  • साथ ही आप खुद भी इस पुरस्‍कार के लिए आवेदन कर सकते हैं.
  • इसमें पारदर्शिता लाने के लिए केंद्र सरकार की द्वारा वर्ष 2016 में एक पोर्टल शुरू किया था जहां नामों की सिफारिश की जा सकती है. यहां नाम, आधार कार्ड और अन्य जानकारियां सब्मिट करनी पड़ती है. पोर्टल के अलावा किसी भी अन्य तरीके से नामांकन स्वीकार नहीं किए जाते.
  • इसके बाद एक समिति इन नामों पर विचार करती है. पुरस्कार समिति जब एक बार सिफारिश कर देती है, तो फिर प्रधानमंत्री, गृह मंत्री और राष्ट्रपति इस पर अपना अनुमोदन देते हैं. 


इस प्रकार की जाती है पद्म पुरस्कारों के लिए चयन | This is how the selection for Padma awards is done in Hindi?


  • प्रत्येक वर्ष 1 मई से 15 सितंबर तक नामों की सिफारिश की जाती है. 
  • इसके बाद जो नाम आते हैं उन पर विचार करने के लिए पीएम एक समिति गठित करते हैं. इस कमेटी के अध्यक्ष कैबिनेट सचिव होते हैं. 
  • केंद्रीय कैबिनेट सचिव के अलावा इस समिति में राष्ट्रपति के सचिव, गृह सचिव और 4-6 प्रतिष्ठित व्यक्ति शामिल होते हैं. पद्म पुरस्कारों के लिए जितने भी नॉमिनेशन प्राप्त होते हैं, उन्हें पद्म पुरस्कार समिति के समक्ष रखा जाता है.
  • पुरस्कार समिति द्वारा नामों का सेलेक्शन करने के बाद इसे प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति के पास भेजा जाता है. 
  • प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति की मंजूरी के बाद पद्म पुरस्कार के लिए नाम तय होते हैं. 
  • और अंततः गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर इन सम्मानों की घोषणा की जाती है. 
  • इसके बाद मार्च या अप्रैल में होने वाले समारोह के दौरान राष्ट्रपति विजेताओं को सम्मानित करते हैं.


पद्म पुरस्कार तीन श्रेणियों में प्रदान किए जाते हैं. | Padma awards are given in three categories !


"पद्म विभूषण" असाधारण और विशिष्ट सेवा,

"पद्म भूषण" उत्कृष्ट कोटि की विशिष्ट सेवा और

"पद्म श्री" किसी भी क्षेत्र में विशिष्ट सेवा के फलस्वरूप प्रदान किया जाता है.


पद्म पुरस्कार का इतिहास क्या है? | What is history of Padma Awards in Hindi?


पद्म पुरस्कारों की शुरुआत वर्ष 1954 में की गई थी, सरकार ने केवल दो पुरस्कार भारत रत्न और पद्म विभूषण की शुरूआत की थी. भारत रत्न देश का सर्वोच्च नागरिक सम्मान है. पद्म विभूषण को तीन श्रेणियों पहला वर्ग, दूसरा वर्ग और तीसरा वर्ग के लिए दिया जाता था. वर्ष 1955 में इन तीन श्रेणियों का क्रमशःपद्म विभूषण, पद्म भूषण और पद्म श्री नामकरण किया गया.


इसी के साथ पद्म विभूषण देश का दूसरा सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार है. पद्म भूषण देश का तीसरा सर्वोच्च नागरिक सम्मान है और पद्म श्री देश का चौथा सर्वोच्च नागरिक सम्मान है. प्रत्येक वर्ष घोषित पद्म पुरस्कार विजेताओं की सूची में 120 से अधिक नाम नहीं हो सकते है. वर्ष 1978 और 1979 और 1993 के 1997 को छोड़कर इन पुरस्कारो की घोषणा इनके स्थापना के बाद से हर साल की गई है.


तीनों पद्म पुरस्कार (पद्म विभूषण पद्म भूषण और पद्म श्री) में क्या अंतर है? | What is difference between Padma Vibhushan, Padma Bhushan and Padma Shree in Hindi


पद्म विभूषण | Padm Vibhushan in Hindi

पद्म विभूषण पद्म पुरस्कारों में सर्वोच्च होता है. भारत रत्न के बाद यह भारत का दूसरा सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार है. यह पुरस्कार किसी भी क्षेत्र में असाधारण और उत्कृष्ट कार्य के लिए प्रदान किया जाता है. इस सम्मान में पुरस्कार के रूप में 1-3/16 इंच का कांसे का एक बिल्ला मिलता है. जिसके केंद्र में एक कमल का फूल होता है. इस फूल के ऊपर नीचे पद्म विभूषण देवनागरी लिपि में लिखा होता है. वहीं इस बिल्ले के पिछले हिस्से में अशोक चिन्ह बना होता है. यह सम्मान किसी भी क्षेत्र में विशिष्ट और उल्लेखनीय सेवा के लिए प्रदान किया जाता है. इसमें सरकारी कर्मचारियों द्वारा की गई सेवाएं भी शामिल हैं.


पद्म भूषण | Padma Bhushan in Hindi

पद्म पुरस्‍कारों में पद्म भूषण दूसरा सबसे बड़ा पुरस्‍कार है. साथ ही यह भारत का तीसरा सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार है. इस सम्मान में भी कांसे का बिल्ला दिया जाता है जो 1-3/16 इंच का होता है. साथ ही डिजाइन भी वहीं होता है, बस कमल के फूल के ऊपर नीचे पद्मभूषण लिखा रहता है. यह सम्मान किसी भी क्षेत्र में विशिष्ट और उल्लेखनीय तथा उच्च कोटि की विशिष्ट सेवा के लिए प्रदान किया जाता है.


पद्मश्री | Padma Shree in Hindi

पद्म श्री पुरस्कार पद्म पुरस्कारों में तीसरा और भारत का चौथा सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार होता है. इसका डिजाइन भी एक समान होता है. इसके अग्रभाग पर, "पद्म" और "श्री" शब्द देवनागरी लिपि में अंकित रहते है. यह जीवन के विभिन्न क्षेत्रों जैसे कला, शिक्षा, उद्योग, साहित्य, विज्ञान, खेल, चिकित्सा, समाज सेवा और सार्वजनिक जीवन आदि में उनके विशिष्ट योगदान के लिए दिया जाता है. भारत के नागरिक पुरस्कारों के पदानुक्रम में यह चौथा पुरस्कार है. इसके अग्रभाग पर "पद्म" और "श्री" शब्द देवनागरी लिपि में अंकित रहते हैं.


पद्म पुरस्कारों से जुड़ी कुछ खास बातें | Interesting facts about Padma Awards in Hindi


  • पद्मा पुरस्कार लिस्ट की घोषणा हर साल गणतंत्र दिवस के मौके पर की जाती है। इसके बाद मार्च या अप्रैल में होने वाले समारोह के दौरान राष्ट्रपति विजेताओं को सम्मानित करते हैं.
  • नियम के अनुसार, अगर किसी को वर्तमान में पद्मश्री मिला है तो उसे पद्म भूषण या पद्म विभूषण पांच साल बाद ही मिल सकता है. हालांकि सरकार कुछ विशिष्ट मामलों में पुरस्कार को लेकर छूट दे सकती है.
  • समारोह के दौरान राष्ट्रपति से सम्मान पाने वाले सभी विजेताओं के नाम भारत के राजपत्र में घोषित किए जाते हैं.
  • पद्म पुरस्कारो की घोसना प्रत्येक वर्ष गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर की जाती है. 
  • भारत में पद्म पुरस्कार वर्ष 1954 में शुरू किए गए थे.


पद्म पुरस्कार से सम्मानित व्यक्ति को क्या-क्या सुविधाएं अथवा लाभ मिलती है? | What facilities or benefits do Padma awardees get in Hindi?


  • देश के जिन विशिष्ट लोगों को पद्म अवार्ड मिलता है उसमें राष्ट्रपति के हस्ताक्षर और मुहर के साथ जारी की गई एक प्रमाण पत्र और एक मेडल शामिल होता है. 
  • पुरस्कार विजेता के संबंध में संक्षिप्त विवरण वाली एक स्मारिका भी समारोह वाले दिन जारी की जाती है. 
  • पद्म पुरस्कार पाने वाले लोगों को मेडल की एक प्रतिकृति भी प्रदान की जाती है जिससे वे किसी समारोह आदि में पहन सकते हैं.
  • पद्म पुरस्कार में कोई नकद भत्ता या रेल हवाई यात्रा में रियायत आदि के रूप में कोई सुविधा नहीं मिलती.


भारत रत्‍न सम्मान पाने वाले व्यक्ति को क्या मिलती है सुविधाएं | What facilities are available to the person receiving the Bharat Ratna award in Hindi?


  • भारत रत्न से सम्मानित व्यक्ति को भारत के राष्ट्रपति द्वारा हस्ताक्षरित एक प्रमाणपत्र और एक पदक प्राप्त होता है. 
  • भारत रत्न पाने वाले व्यक्ति को सरकार की ओर से ‘वॉरंट ऑफ प्रेसीडेंस ‘में जगह दी जाती है. ये एक तरह का प्रोटोकॉल है.
  • इस प्रोटोकॉल में राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, राज्यपाल, पूर्व राष्ट्रपति, उपप्रधानमंत्री, मुख्य न्यायाधीश, लोकसभा स्पीकर, कैबिनेट मंत्री, मुख्यमंत्री, पूर्व प्रधानमंत्री और संसद के दोनों सदनों में विपक्ष के नेता के बाद जगह मिलती है.
  • भारत रत्न जैसा प्रतिष्ठित सम्‍मान हासिल करने वालों को भारत सरकार कई प्रकार की सुविधाएं देती है. इसमें भारत रत्न पाने वाला व्यक्ति रेलवे की यात्रा मुफ्त में कर सकता है. इसके अलावा दिल्ली सरकार मुफ्त में बस सेवा की सुविधा भी प्रदान करती है.
  • भारत रत्न से सम्मानित व्यक्ति विजिटिंग कार्ड पर सम्मान का नाम लिख सकते हैं. मगर वे अपने कार्ड पर ‘राष्ट्रपति द्वारा भारत रत्न से सम्मानित’ या ‘भारत रत्न प्राप्तकर्ता’ ही लिख सकते हैं.
  • भारत रत्न पदक पीपल के पत्ते के रूप में होता है, जो लगभग 5.8 सेमी लंबा, 4.7 सेमी चौड़ा और 3.1 मिमी मोटा होता है. यह टोंड कांस्य से बना होता. इसके अग्रभाग पर 1.6 सेमी व्यास में सूर्य की प्रतिकृति उकेरी गई है, जिसके नीचे देवनागरी लिपि में भारत रत्न शब्द उकेरे गए होते हैं. इसके पीछे अशोक के चिन्‍ह के साथ सत्‍यमेव जयते लिखा होता है. 


Bharat Ratna kyo diya jata hai in Hindi?
भारत रत्न | Bharat Ratna


पद्म पुरस्कार देने का उद्देश्य क्या है? | What is the purpose of Padma Awards in Hindi


पद्म पुरस्कार देने का उद्देश्य किसी विशिष्ट और असाधारण कार्य को मान्यता प्रदान करना है. पद्म पुरस्कार दिए जाने पर व्यक्ति द्वारा किये गए महान कार्यो को जग तक पहुंचाया जाता है. साथ ही उनके कार्यो के लिए उन्हें सम्मान दिया जाता है. जिससे न सिर्फ उस एक व्यक्ति का अपितु समाज में एक प्रकार का सन्देश जाता है. लोगो को जीवन में अच्छे और सेवा कार्यो के प्रति प्रोत्साहित करता है. पद्म पुरस्कार सभी प्रकार की गतिविधियों जैसे की कला, साहित्य, शिक्षा, खेलकूद, चिकित्सा, समाज सेवा, विज्ञान एवं इंजीनियरिंग, लोक कार्य, सिविल सेवा, व्यापार, उद्योग जगत आदि के लिए दिए जा सकते है. पद्म अवार्ड के लिए चुने जाने वाले व्यक्ति में लोक सेवा का तत्व होना चाहिए.


पद्म अवार्ड का महत्व क्या है? | What is the purpose of giving Padma Awards in Hindi? 


पद्म अवार्ड विजेताओं को भले ही नकदी या अन्य रूप में कोई लाभ ना मिले, लेकिन यह देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान में से एक है. पद्म पुरस्कार पाने वाले व्यक्ति के कार्यो को समाज में पहचान मिलती है. उसके कार्यो को सराहा जाता है. उस व्यक्ति का जनमानस में यह छवि बनती है कि उन्होंने अपने क्षेत्र में विशिष्ट कार्य किया है जिसके लिए सरकार ने उन्हें पद्म सम्मान देने लायक समझा है. साथ ही इस प्रकार से लोगो को अपने अपने क्षेत्र में कुछ नया करने के लिए प्रोत्साहित करती है.


पद्म पुरस्कार की सीमाएं | Limitations in Padma Awards in Hindi


  • इन पद्म पुरस्कारों के लिए बिना किसी भेदभाव के कोई भी व्यक्ति पात्र होता है. डॉक्टरों और वैज्ञानिकों को छोड़कर कोई भी सरकारी कर्मचारी-अधिकारी अपने पद पर बने रहने तक इसके लिए पात्र नहीं होते.
  • आमतौर पर पद्म पुरस्कार मरणोपरांत नहीं दिए जाते हैं लेकिन कुछ मामलों में केंद्र सरकार इस विचार कर सकती है.
  • नियम के अनुसार, अगर किसी को वर्तमान में पद्मश्री मिला है तो उसे पद्म भूषण या पद्म विभूषण पांच साल बाद ही मिल सकता है. हालांकि सरकार कुछ विशिष्ट मामलों में पुरस्कार को लेकर छूट दे सकती है.
  • एक वर्ष में प्रदान किए जाने वाले कुल पद्म पुरस्कारों की संख्या (मरणोपरान्त तथा विदेशियों को दिए जाने वाले पुरस्कारों को छोड़कर) 120 से अधिक नहीं होनी चाहिए.
  • इस अलंकरण में राष्ट्रपति के हस्ताक्षर और मोहर से जारी की गई एक सनद (प्रमाण-पत्र) तथा तमगा (मेडल) शामिल होता है. प्रत्येक पुरस्कार विजेता के संबंध में संक्षिप्त परिचय वाली एक स्मारिका भी समारोह वाले दिन जारी की जाती है.
  • पुरस्कार प्राप्तकर्ताओं को मेडल के साथ एक प्रीतिकृति भी प्रदान की जाती है, जिसे वे अपनी इच्छानुसार किसी भी समारोह/राजकीय समारोहों आदि में पहन सकते हैं.
  • यह पुरस्कार कोई पदवी नहीं है और इसे पत्र-शीर्षों, निमंत्रण पत्रों, पोस्टरों, पुस्तकों आदि पर पुरस्कार विजेता के नाम के आगे या पीछे उल्लेखित नहीं किया जा सकता है. इसका दुरुपयोग करने पर उस व्‍यक्ति को इस पुरस्कार से वंचित कर दिया जाएगा.
  • इन पुरस्कारों के साथ कोई नकद भत्ता अथवा रेल/हवाई यात्रा आदि के रूप में कोई रियायत प्रदान नहीं की जाती है.


पद्म पुरस्कार इन क्षेत्रों में विशेष कार्यो के लिए दिया जाता है. | Padma awards are given for special work in these fields


  • कला- संगीत, पेंटिंग, मूर्तिकला, फोटोग्राफी, सिनेमा, रंगमंच आदि शामिल हैं.
  • सामाजिक कार्य- समाज सेवा, धर्मार्थ सेवा, सामुदायिक परियोजनाओं में योगदान आदि.
  • सार्वजनिक मामले- कानून, सार्वजनिक जीवन, राजनीति आदि.
  • विज्ञान और इंजीनियरिंग- अंतरिक्ष इंजीनियरिंग, परमाणु विज्ञान, सूचना प्रौद्योगिकी, विज्ञान और इसके संबद्ध विषयों में अनुसंधान और विकास आदि.
  • व्यापार और उद्योग- बैंकिंग, आर्थिक गतिविधियां, प्रबंधन, पर्यटन को बढ़ावा देना, व्यवसाय आदि.
  • चिकित्सा- चिकित्सा अनुसंधान, आयुर्वेद, होम्योपैथी, सिद्ध, एलोपैथी, प्राकृतिक चिकित्सा आदि में विशेषज्ञता आदि.
  • साहित्य और शिक्षा- पत्रकारिता, शिक्षण, पुस्तक रचना, साहित्य, कविता, शिक्षा को बढ़ावा देना, साक्षरता को बढ़ावा देना, शिक्षा सुधार आदि.
  • सिविल सेवा- सरकारी कर्मचारियों द्वारा प्रशासन आदि में विशिष्टता/उत्कृष्टता आदि.
  • खेल- लोकप्रिय खेल, एथलेटिक्स, साहसिक, पर्वतारोहण, खेल को बढ़ावा देना, योग आदि.
  • अन्य- इसके अलावा भारतीय संस्कृति का प्रचार, मानव अधिकारों की सुरक्षा, वन्य जीवन संरक्षण/संरक्षण आदि में कार्य करने वालों को भी यह पुरस्‍कार मिलता है.


पद्म पुरस्कार (पद्म श्री पद्म भूषण पद्म विभूषण अवार्ड) से जुड़े महत्वपूर्ण सवाल और उनके जवाब | Frequently asked questions about Padma Awards in Hindi


पद्म पुरस्कार क्या होता है? | What is Padma Awards in Hindi?

भारत रत्न के बाद पद्म पुरस्कार (Padma Awards) भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान होता है. 


पद्म पुरस्कारों की घोषणा कब की जाती है? | When are the Padma Awards announced in Hindi?

पद्म पुरस्कारो (Padma Awards announcement) की घोसना प्रत्येक वर्ष गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर की जाती है. 


पद्म पुरस्कार देना कब शुरू हुआ था? | When did the giving of Padma awards start?

वर्ष 1954

भारत में पद्म पुरस्कार वर्ष 1954 में शुरू किए गए थे.


क्या किसी व्यक्ति को भारत के सारे पद्म पुरस्कार दिए गए हैं?

सत्यजित रे

भारत रत्न (1992) के अतिरिक्त पद्म श्री (1958), पद्म भूषण (1965), पद्म विभूषण (1976) और रेमन मैग्सेसे पुरस्कार (1967) से सम्मानित हैं. विश्व सिनेमा में अभूतपूर्व योगदान के लिए सत्यजित रे को ऑस्कर अवॉर्ड से अलंकृत किया गया था. इसके अलावा इन्होंने और इनके काम ने कुल 32 राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार प्राप्त किये.


क्या कोई है जिन्हे तीनों पद्म पुरस्कार और भारत रत्न से सम्मानित किया गया है?

बिस्मिल्लाह खान साहब

तीन पद्म पुरस्कार के साथ 2001 में भारत रत्न पुरस्कार से नवाजा गया था. पद्मश्री - 1961, फिर पद्मा भूषण - 1968 और पद्म विभूषण 1980 में मिला था.


देश का पहला पद्मश्री अवार्ड किसे दिया गया था. | Who was given the country's first Padma Shri award?

Balbir Singh Dosanjh

देश का पहला पद्म श्री अवार्ड ओलंपियन Balbir Singh Dosanjh को दिया गया था. बॉलीवुड में किसी अभिनेत्री को पहला पद्म श्री अवार्ड नर्गिस दत्‍त को दिया गया था.


पद्म विभूषण प्राप्त करने वाले पहले खिलाड़ी कौन थे?

सी. के. नायडू (कोट्टारी कंकैया नायडू) 

भारत के पहले खिलाड़ी थे जिन्हें सरकार द्वारा पद्मभूषण (1956) देकर सम्मानित किया गया था.


पद्म श्री से सम्मानित होने वाले पहले एथलीट कौन थे?

मिल्खा सिंह 

मिल्खा सिंह एथलीट पद्मश्री से सम्मानित होने वाले पहले भारतीय एथलीट थे.


रामविलास पासवान को किस पद्म पुरस्कार से सम्मानित किया गया है? | Ram Vilas Paswan has been honored with which Padma award?

Padma Bhushan

पूर्व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान (Ram Vilas Paswan) को मरणोपरांत पद्म भूषण (Padma Bhushan) पुरस्कार से सम्मानित किया गया है. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उनके बेटे चिराग पासवान (chirag paswan) को पुरस्कार दिया.


Sushma Swaraj को किस पद्म पुरस्कार से सम्मानित किया गया है? | Sushma Swaraj has been honored with which Padma award?

Padma Vibhushan 4

बीजेपी की दिवंगत नेता और पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्‍वराज (Sushma Swaraj) को मरणोपरांत पद्म विभूषण पुरस्कार से सम्मानित किया गया है.


कंगना रनौत और अदनान सामी को किस पद्म पुरस्कार से सम्मानित किया गया है? | Kangana Ranaut and Adnan Sami have been honored with which Padma award?

फिल्‍म के क्षेत्र से आने वाली अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut) को पद्म श्री पुरस्कार 2020 मिला है. अपने गाने के लिए मशहूर गायक अदनान सामी (Adnan Sami) को भी पद्म श्री पुरस्कार 2020 से सम्मानित किया गया.


पद्म विभूषण किन कार्यो के लिए दिया जाता है? | For what works Padma Vibhushan is given?

असाधारण और विशिष्ट सेवा के लिए


पद्म भूषण किन कार्यो के लिए दिया जाता है? | For what purposes Padma Bhushan is given?

उत्कृष्ट कोटि की विशिष्ट सेवा के लिए


पद्म श्री किन कार्यो के लिए दिया जाता है? | For what works is Padma Shri given?

किसी भी क्षेत्र में विशिष्ट सेवा के फलस्वरूप प्रदान किया जाता है.


पद्म पुरस्कार कितने प्रकार के होते हैं? | How many type are Padma Awards are there in Hindi?

3

पद्म पुरस्कार को तीन श्रेणी में बाटा गया है. इसमें पद्म विभूषण, पद्म भूषण और पद्म श्री है.


Padma awards winners full list 2022 in Hindi
Padma Awards winner list 2022

Padma Awards 2022 full list in hindi: जानिए वर्ष 2022 में कीन्हे पद्म पुरस्कारों से सम्मानित किया जा रहा है? Full list of Padma Awards winner 2022 in hindi


यह भी पढ़े


Check out Sikas Gupta Latest Vlog


Beating the Retreat Ceremony: 300 साल से चली आ रही 'बिटिंग द रिट्रीट' समारोह क्या होता हैं ?  


Republic Day 2022 unknown facts hindi: जानिए गणतंत्र दिवस से जुड़े रोचक बातें तथा हर वो सवाल का जवाब जो आप नहीं जानते


International Olympic Games: जानिये ओलिंपिक खेल का इतिहास और इससे जुडी कुछ रोचक जानकारियां

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने