Children's Day 2021: बाल दिवस क्यों मनाया जाता है ( Reason behind Children's Day )?, क्या है बाल दिवस इतिहास और महत्व

Children's Day 2021: बाल दिवस कब और क्यों मनाया जाता है?, पंडित जवाहरलाल नेहरू और बाल दिवस में क्या सम्बन्ध है? | Know Why Children's Day is celebrated in Hindi?

भारत देश में हर साल कुछ ऐसे बेहद जरूरी दिन आते हैं, जो बेहद ही खास होते हैं. भारत में हर वर्ष 14 नवंबर को बाल दिवस मनाया जाता है. बच्‍चों के अधिकारों और उनकी शिक्षा के बारे में जागरुकता बढ़ाने के लिए ये दिवस मनाया जाता है. इसे बच्चों के लिए सबसे खास दिन माना जाता है. इस दिन बच्चों को उनकी शिक्षा के बारे में जागरूक करने और उनके अधिकारों के प्रति उन्हें बताने के लिए ये दिन मनाया जाता है. लेकिन क्या आप ये जानते हैं कि 14 नवंबर को ही ये दिन क्यों मनाया जाता है? 
बाल दिवस कब और क्यों मनाया जाता है?, Why children's day is celebrated
बाल दिवस | Children’s Day

बाल दिवस | Children’s Day 2021

चिल्‍ड्रेंस डे अथवा बाल दिवस पूरे देश में 14 नवंबर को मनाया जाता है. यह दिन भारत के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू की जयंती का प्रतीक है. बच्चों द्वारा प्यार से चाचा नेहरू कहे जाने वाले देश के प्रधानमंत्री ने बच्चों की सर्वांगीण शिक्षा की वकालत की जिससे भविष्य में एक बेहतर समाज का निर्माण हो सके. जवाहरलाल नेहरू बच्चों को राष्ट्र की असली ताकत और समाज की नींव मानते थे.

बाल दिवस इतिहास | Children’s Day History

पंडित नेहरू की मृत्यु से पहले, भारत में 20 नवंबर को बाल दिवस मनाया जाता था. संयुक्त राष्ट्र द्वारा विश्व बाल दिवस के रूप में इसी दिन को चिन्हित किया गया था. चाचा नेहरू की मृत्यु के बाद, भारत के पहले प्रधानमंत्री की जयंती को बाल दिवस के रूप में मनाए जाने के लिए भारतीय संसद में एक प्रस्ताव पारित किया गया था. ऐसा इसलिए किया गया क्योंकि कहा जाता है की वह बच्चों के बीच बहुत लोकप्रिय थे. 1964 में नेहरू की जयंती को बाल दिवस के रूप में चिह्नित करने के लिए भारतीय संसद में एक प्रस्ताव पारित किया गया था. मंजूरी मिलने के बाद से 14 नवंबर को बाल दिवस भारत में मनाया जाना शुरू हुआ.

बाल दिवस का महत्व | Children’s Day Significance

बाल दिवस का उद्देश्य पंडित नेहरू को श्रद्धांजलि देने के अलावा बच्चों के अधिकारों, देखभाल और शिक्षा के प्रति जागरूकता को बढ़ाना भी है. साथ बच्चो को अपने प्रति भी रुझान बढ़ने के लिए महत्वपूर्ण है. जवाहरलाल नेहरू के शब्दों में, "आज के बच्चे कल का भारत बनाएंगे. जिस तरह से हम उन्हें पालेंगे, वही देश का भविष्य तय करेगा."

बाल दिवस समारोह | Children's Day Celebrations

भारत में बाल दिवस स्कूलों और अन्य शैक्षणिक संस्थानों में बड़ी धूम-धाम से साथ मनाया जाता है. बच्चों को उनके लिए दिन को खास बनाने के लिए उन्‍हें खिलौने, मिठाई और उपहार भेंट किए जाते हैं. बाल दिवस मनाने के लिए स्कूल खेल आयोजन, प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता और अन्य गतिविधियों का आयोजन करते हैं. बाल दिवस के असवसर पर भारत भर के स्कूलों में फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता, भाषण और निंबध प्रतियोगिता सहित मजेदार और प्रेरक समारोह आयोजित करते हैं.

यह भी पढ़े 



एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने