World Earth Day 2021: क्यों मनाया जाता है पृथ्वी दिवस, क्या है इसका इतिहास और महत्व

World Earth Day 2021: जानें कब और कैसे हुई थी विश्व पृथ्वी दिवस को मनाने की शुरुआत, कब और क्यों मनाया जाता है पृथ्वी दिवस, इसका इतिहास, विषय, इस बार के थीम एवं इससे जुड़ी अन्य महत्वपूर्ण जानकारी 


World Earth Day 2021: विश्व पृथ्वी दिवस एक वार्षिक आयोजन है, जिसे हर साल 22 अप्रैल को दुनिया भर में पर्यावरण संरक्षण के लिए समर्थन प्रदर्शित करने के लिए आयोजित किया जाता है. यह दिन 1970 में आधुनिक पर्यावरण आंदोलन के जन्म की वर्षगांठ का प्रतीक है. इसे दुनिया की बहुत बड़ी नागरिक घटना के रूप में भी जाना जाता है. 

World Earth Day 2021, विश्व पृथ्वी दिवस 2021
World Earth Day 2021
विश्व पृथ्वी दिवस 2021

World Earth Day 2021: वर्ल्ड अर्थ डे यानी 'विश्‍व पृथ्वी दिवस' एक वार्षिक आयोजन है, जिसे हर साल 22 अप्रैल को दुनिया भर में पर्यावरण संरक्षण के लिए समर्थन प्रदर्शित करने के लिए आयोजित किया जाता है. 22 अप्रैल, 1970 को पहली बार 'विश्‍व पृथ्वी दिवस' मनाया गया था. अमेरिकी सीनेटर गेलॉर्ड नेल्सन ने इसे मनाने की शुरुआत की थी. यह दिन 1970 में आधुनिक पर्यावरण आंदोलन के जन्म की वर्षगांठ का प्रतीक है. इसे दुनिया की बहुत बड़ी नागरिक घटना के रूप में भी जाना जाता है.  


क्यों मनाया जाता है विश्‍व पृथ्वी दिवस 


कई लोगों के मन में यह सवाल उठात है की आखिर 22 अप्रैल को ही 'विश्‍व पृथ्वी दिवस' के लिए क्यों चुना गया. 22 अप्रैल, 1970 को पहली बार 'विश्‍व पृथ्वी दिवस' मनाया गया था. साल 1968 में अमेरिका में पर्यावरण कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया गया जिसमें छात्र वैज्ञानिकों के पर्यावरण के मानव स्वास्थ्य पर होने वाले प्रभावों के बारे में विचार सुन सकें. 

सितंबर 1969 में वॉशिंगटन में एक सम्मलेन में विस्कोंसिन के अमेरिकी सीनेटर जेराल्ड नेल्सन घोषणा की कि 1970 की वसंत में पर्यावरण पर राष्ट्रव्यापी जन साधारण प्रदर्शन किया जाएगा. सीनेटर नेल्सन ने पर्यावरण को एक राष्ट्रीय एजेंडा में जोड़ने के लिए पहले राष्ट्रव्यापी पर्यावरण विरोध की प्रस्तावना दी. सरकार द्वारा पर्यावरणीय अज्ञानता के विरोध में 20 मिलियन से अधिक अमेरिकियों को सड़कों पर ले जाने के बाद यह चर्चा का विषय बन गया. तब से, यह एक वार्षिक कार्यक्रम रहा है. 22 अप्रैल, 1970 को पहली बार 'विश्‍व पृथ्वी दिवस' मनाया गया था.

साल 1970 से प्रारम्भ हुए इस दिवस को आज पूरी दुनिया के 192 से अधिक देशों के 1 अरब से अधिक लोग मनाते हैं. साल 2021 में इसके 51 साल पूरे होने जा रहे है. ‍'विश्व पृथ्वी दिवस' को मनाने का मुख्य उद्देश्य लोगों को पृथ्वी और पर्यावरण के संरक्षण हेतु जागरूक करना है.

ये व्यापक मुद्दे वजह बनी

अर्थ डे और उससे संबंधित पर्यवारणीय रैलियों को नतीजा था कि 1970 के साल के अंत में अमेरिकी सरकार ने पर्यावरण सुरक्षा एजेंसी बना ली थी. शुरुआत में लोगों का ध्यान केवल प्रदूषण पर ही था लेकिन धीरे-धीरे 1990 के दशक के बाद से जलवायु परिवर्तन और ग्लोबल वार्मिंग जैसे व्यापक मुद्दों के तहत यह आ गया. अब मानव जनित गतिविधियां, कार्बन उत्सर्जन जैसे शब्दों से इन समस्याओं को बेहतर परिभाषित किया जा रहा है. 

पर्यावरण के लिहाज से दुनिया को पृथ्वी को व्यापक तौर पर देखने के जरूरत है ना कि पहले स्थानीय स्तर की अलग-अलग समस्याओं के रूप में. हर साल दुनिया का औसत तापमान वृद्धि मानव जनित गतिविधियों के नतीजे के तौर पर आंका जा रहा है तो औद्योगिक क्रांति के समय के औसत से 1.5 डिग्री पहले ही बढ़ चुका है. अब दुनिया को निर्णायक रूप से फैसले लेने की जरूरत है. 

विश्व पृथ्वी दिवस मनाने का उद्देश्य


पृथ्वी पर जैसे-जैसे आबादी बढ़ते जा रही है, यहां प्रदूषण, प्राकृतिक संसाधनों का दोहन, बढ़ते असंतुलन के कारण वो दिन अब दूर नहीं है जब पृथ्वी रहने का स्थान नहीं बचेगी. इसलिए जरूरी है कि सही समय पर सभी लोग जाग जाएं और अपनी जिम्मेदारियों को समझें और पृथ्वी के प्रति अपने कर्तव्य निभाएं इसी उद्देश्य के साथ पिछले 50 सालों से संपूर्ण विश्व में विश्व पृथ्वी दिवस मनाया जा रहा है.

पृथ्वी दिवस पहले हर साल दो बार 21 मार्च तथा 22 अप्रैल को मनाया जाता था लेकिन साल 1970 से यह दिवस 22 अप्रैल को ही मनाया जाना तय किया गया। 21 मार्च को पृथ्वी दिवस केवल उत्तरी गोलार्द्घ के वसंत तथा दक्षिणी गोलार्द्ध के पतझड़ के प्रतीक स्वरूप ही मनाया जाता रहा है. 21 मार्च को मनाए जाने वाले पृथ्वी दिवस को हालांकि संयुक्त राष्ट्र का समर्थन प्राप्त है, लेकिन केवल वैज्ञानिक व पर्यावरणीय महत्व ही है जबकि 22 अप्रैल को मनाए जाने वाले पृथ्वी दिवस का पूरी दुनिया में सामाजिक एवं राजनैतिक महत्व है. 

World Earth Day 2021 विश्व पृथ्वी दिवस 2021
World Earth Day 2021
विश्व पृथ्वी दिवस 2021


विश्व पृथ्वी दिवस 2021 की थीम ( वर्ल्ड अर्थ डे की थीम )


इस बार कोरोना काल में अर्थ डे की थीम है 'पृथ्वी को फिर से अच्छी अवस्था में बहाल करना'. जिसके लिए उन नेचुरल रिसोर्सेज और उभरती हुई तकनीकों पर ध्यान देना होगा जो दुनिया के पारिस्थिकी तंत्र को फिर से कायम करने में मददगार साबित होंगे.

- 2020 में विश्व पृथ्वी दिवस के लिए थीम 'जलवायु कार्रवाई' था.
- 2019 में विश्व पृथ्वी दिवस के लिए थीम 'अपनी प्रजातियों की रक्षा करें' था.
- 2018 में विश्व पृथ्वी दिवस के लिए थीम 'प्लास्टिक प्रदूषण का अंत' था।
- 2017 में विश्व पृथ्वी दिवस के लिए थीम 'पर्यावरण और जलवायु साक्षरता' था.
- 2016 में विश्व पृथ्वी दिवस के लिए थीम 'धरती के लिए पेड़' था.
- 2015 में विश्व पृथ्वी दिवस के लिए थीम 'जल अद्भुत विश्व' था.
- 2014 में विश्व पृथ्वी दिवस के लिए थीम 'हरे शहर' था.
- 2013 में विश्व पृथ्वी दिवस के लिए थीम 'जलवायु परिवर्तन का चेहरा' था.
- 2012 में विश्व पृथ्वी दिवस के लिए थीम 'धरती को संगठित करना' था.
- 2011 में विश्व पृथ्वी दिवस के लिए थीम 'वायु को साफ करें' था.
- 2010 में विश्व पृथ्वी दिवस के लिए थीम 'कम करो' था.

विश्व पृथ्वी दिवस को मनाए जाने का वास्तविक लाभ तभी है, जब हम आयोजन को केवल रस्म अदायगी तक ही सीमित न रखें, बल्कि धरती की सुरक्षा के लिए इस अवसर पर लिए जाने वाले संकल्पों को पूरा करने हेतु हरसंभव प्रयास भी करें. 


यह भी पढ़े 

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने