Hindu Nav Varsh 2022 | हिंदू नव वर्ष 2022 की शुरुआत: हिन्दू नव वर्ष 2022 की हार्दिक शुभकामनाएं | All about Hindu Nav Varsh in Hindi

Hindu Nav Varsh 2022 | हिंदू नव वर्ष 2022 की शुरुआत: हिन्दू नव वर्ष 2022 की हार्दिक शुभकामनाएं 


Hindu Nav Varsh 2021 | हिंदू नव वर्ष 2021 की शुरुआत: हिन्दू नव वर्ष 2021 की हार्दिक शुभकामनाएं
Hindu Nav Varsh 2021 | हिंदू नव वर्ष 2021
हिन्दू नव वर्ष 2021 की हार्दिक शुभकामनाएं 


हिन्दू नव वर्ष 2022 ( Hindu Nav Varsh 2022)| भारतीय नव वर्ष 2022 | हिन्दू नव वर्ष 2022 की हार्दिक शुभकामनाएं |नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं संदेश 2022 |नव-संवत्सर 2079 की शुभकामनाएंं | Navsamvatsar 2079 की शुभकामनाएं | हिन्दू नव वर्ष 2022 images | हिन्दू नव वर्ष 2022 फोटो | Hindu new year 2022 | Hindu new year 2022 date| Hindu new year 2022 images | Hindu new year 2022 photo


हिंदू नव वर्ष 2022 ( Hindu Nav Varsh 2022 ): हिन्दू नववर्ष यानी नव-संवत्सर 2079 की शुरुआत चैत्र के पहले दिन से होती है. इस बार हिन्दू नववर्ष की शुरुआत आज 02 अप्रैल, शनिवार 2022 से हो रही है. हिंदू पंचांग के अनुसार, यह चैत्र मास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि होती है. चैत्र का महीना हिंदू कैलेंडर का पहला महीना माना जाता है. चैत्र प्रतिपदा से नवरात्रि का पर्व भी आरंभ होता है. हिन्दू नववर्ष यानी कि नव-संवत्सर 2079 के आरंभ होते ही शुभ कामों की भी शुरूआत हो जाएगी. 


पौराणिक ग्रंथो में चैत्र के पहले दिन को नव-संवत्सर भी कहा जाता है. पुराणों में 60 संवत्सरों के बारे में बताया गया है.हिंदू ग्रंथों के अनुसार, यह नव-संवत्सर 2078 चल रहा है जिसका नाम प्रमादी है. 


Hindu Nav Varsh 2021 | हिंदू नव वर्ष 2021 की शुरुआत: हिन्दू नव वर्ष 2021 की हार्दिक शुभकामनाएं
Hindu Nav Varsh 2021 | हिंदू नव वर्ष 2021
हिन्दू नव वर्ष 2021 की हार्दिक शुभकामनाएं 


2022 में हिन्दू नववर्ष की शुरुआत 02 अप्रैल यानी आज से हो रही है. 02 अप्रैल से चैत्र के वासंती नवरात्रि प्रारंभ होंगे जो 10 तारीख,रविवार को रामनवमी पर समाप्त होंगे. इस दिन सुबह 8:30 पर वैधृति नामक अशुभ योग आरंभ होगा अतः घटस्थापन, अखंड ज्योति प्रज्जवलन, देवी पूजन और नववर्ष पूजन पहले ही करना चाहिए. नल नामक विक्रमी संवत् 2079,शनिवार को ही शुरू होगा. 


इस वर्ष के राजा शनि और मंत्री गुरु होंगे. इस महीने राहु 12 अप्रैल को मेष राशि में आ जाएंगे. इसके अलावा मुख्य ग्रह गुरु 13 अप्रैल को अपनी राशि मीन में और शनि 29 अप्रैल से कुंभ राशि में आ जाएंगे. साथ ही 27 से गुरु-शुक्र योग तथा 29 से मंगल-शनि योग आरंभ होंगे. इस साल 4 ग्रहण लगेंगे. पहली मई को सूर्यग्रहण,16 मई को चंद्रग्रहण, 25 अक्तूबर को सूर्यग्रहण और अंतः में 8 नवंबर को चंद्रग्रहण.


इस बार शनिवार के दिन से नए वर्ष का आगाज हो रहा है. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार शनिवार का दिन शनिदेव जी को समर्पित होता है. ऐसी मान्यता है की शनिवार के दिन शनिदेव जी की पूजा करने से मनवांछित फल की प्राप्ति होती है. धार्मिक पुराणों के अनुसार जिस पर शनिदेव जी की कृपा हो जाए उसे सभी देवी- देवताओं का आर्शीवाद प्राप्त हो जाता है.


चैत्र शुक्ल प्रतिपदा का दिवस ही वासंती नवरात्रि का प्रथम दिवस होता है. पुरातन ग्रंथो के अनुसार इसी दिन सृष्टि की रचना प्रारम्भ की थी. चैत्र मास ही नववर्ष मनाने के लिए सर्वोत्तम है क्योंकि चैत्र मास में चारो ओर पुष्प खिलते हैं, वृक्षों पर नए पत्ते आ जाते है चारो ओर हरियाली मानो प्रकृति ही नव वर्ष मना रही हो. चैत्र मास में सर्दी जा रही होती है तथा गर्मी का आगमन होने जा रहा होता है. मनुष्य के लिए यह समय प्रत्येक प्रकार के वस्त्र पहनने के लिए उपयुक्त है.


नवरात्रि पर मां दुर्गा के नव रूपों की अराधना की जाती है. मान्यता है कि इन नौ दिनों तक मां दुर्गा धरती पर ही रहती हैं. धार्मिक मान्यता के अनुसार ब्रह्मा जी ने चैत्र शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि को ही सृष्टि की रचना की थी. यही कारण है कि इस दिन से हिंदू नव वर्ष और नए संवत्सर की शुरुआत मानी जाती है.


हिंदू नववर्ष विक्रम संवत् 2079 दो अप्रैल 2022 यानी शनिवार से शुरू हो रहा है. अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार चैत्र मास मार्च या अप्रैल के महीने में आता है. इस दिन को महाराष्ट्र में गुड़ी पड़वा तथा आंध्र प्रदेश में उगादी पर्व के रूप में भी मनाया जाता है.


भारतीय नव वर्ष से प्रथम नवरात्रि प्रारम्भ होता है, जिससे घर-घर में माता रानी की पूजा की जाती है जो वातावरण को शुद्ध तथा सात्विक बना देता है. चैत्र प्रतिपदा के दिन महाराज विक्रमादित्य द्वारा विक्रमी संवत् की शुरुआत, भगवान झूलेलाल का जन्मदिवस, नवरात्रि प्रारम्भ, गुड़ी पड़वा,उगादी तथा ब्रम्हा जी द्वारा सृष्टि की रचना इत्यादि का सम्बन्ध इस दिन से है.


Hindu Nav Varsh 2021 | हिंदू नव वर्ष 2021 की शुरुआत: हिन्दू नव वर्ष 2021 की हार्दिक शुभकामनाएं
Hindu Nav Varsh 2022 | हिंदू नव वर्ष 2022
हिन्दू नव वर्ष 2022 की हार्दिक शुभकामनाएं

यह भी पढ़े 


हिन्दू नववर्ष ( Hindu Nav Varsh ) का धार्मिक महत्व:


पौराणिक मान्यताओं के मुताबिक इस दिन ब्रह्म पुराण के अनुसार, ब्रह्मा जी ने पृथ्वी की रचना चैत्र मास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा के दिन की थी. कई पौराणिक गाथाओ में इस बात का जिक्र हैं की इस दिन मानव, राक्षस,पेड़, पौधों, आकाश और समंदर की रचना हुई थी. इसी के चलते पंचांग के अनुसार, हर वर्ष चैत्र मास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि को नववर्ष शुरू हो जाता है. इस बार हिंदू नववर्ष, 02 अप्रैल, मंगलवार 2022 से शुरू होगा.


भारत में हिन्दू नव वर्ष का त्यौहार श्रद्धा और भक्ति के साथ मनाया जाता हैं. चैत्र माह के पहले दिन से नव वर्ष के साथ ही नवरात्रि का त्यौहार की भी शुरूआत होती है. इसे भारत में बेहद धूमधाम के साथ मनाया जाता है. इसे मुख्य पर्वों में से एक माना जाता है. 


Hindu Nav Varsh 2021 | हिंदू नव वर्ष 2021 की शुरुआत: हिन्दू नव वर्ष 2021 की हार्दिक शुभकामनाएं
Hindu Nav Varsh 2022 | हिंदू नव वर्ष 2022
हिन्दू नव वर्ष 2022 की हार्दिक शुभकामनाएं


चैत्र प्रतिपदा तथा नवरात्री के साथ ही अन्य त्यौहार भी इसी दिन भारत के अन्य राज्यों में मनाये जाते है. इसमें महाराष्ट्र में हिंदू नववर्ष को गुड़ी पड़वा के नाम से मनाया जाता है. महाराष्ट्र और मध्य में इस दिन को गुड़ी पड़वा पर्व के रूप में मनाया जाता है. वहीं, दक्षिण भारत में इस मौके पर उगादि के रूप में मनाया जाता है. नव-वर्ष शुरू होने के साथ ही सभी शुभ कार्य फिर से शुरू हो जाते हैं.


Hindu Nav Varsh 2021 | हिंदू नव वर्ष 2021 की शुरुआत: हिन्दू नव वर्ष 2021 की हार्दिक शुभकामनाएं
Hindu Nav Varsh 2022 | हिंदू नव वर्ष 2022
हिन्दू नव वर्ष 2022 की हार्दिक शुभकामनाएं

यह भी पढ़े


Frequently asked questions about Hindu Nav Varsh in Hindi


हिन्दू नव वर्ष 2079 कब है? | When is Hindu New Year 2079 in Hindi?

हिंदू नववर्ष विक्रम संवत् 2079 दो अप्रैल 2022 यानी शनिवार से शुरू हो रहा है. अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार चैत्र मास मार्च या अप्रैल के महीने में आता है.


हिंदू नव वर्ष 2022 कब से शुरू है? | When does Hindu New Year 2022 start in Hindi?

हिंदू नववर्ष यानि नवसंवत्सर 2079 भी शनिवार, 02 अप्रैल 2022 से प्रारंभ होगा.


Saal 2022 संवत्सर का नाम क्या है? | Various other names of 'Hindu Nav' Varsh in hindi

आज भी इस हिंदू नव वर्ष को हर प्रदेश में अलग-अलग नाम से जाना जाता है. गुड़ी पड़वा, होला मोहल्ला, युगादि, विशु, वैशाखी, कश्मीरी नवरेह, उगाड़ी, चेटीचंड ,चित्रैय, तिरूविजा, इन सभी की तिथि संवत्सर के आसपास ही पड़ती है. हालांकि मूल रूप से इसे नव संवत्सर और विक्रम संवत कहा जाता है.


2022 में विक्रम संवत कौन सा चल रहा है? | Which is going on Vikram Samvat in 2022 in Hindi?

2079

विक्रम संवत का साल जानने के लिए आपको मौजूदा साल के वर्ष में 57 जोड़ना होता है. जैसे अगर 2022 है तो उसमें 57 जोड़ने पर 2079 आएगा.


विक्रम संवत 2079 का नाम क्या है? | What is the name of Vikram Samvat 2079 in Hindi?

विक्रम संवत् 2079 का नाम नल है. जो शनिवार को शुरू होगा. इस वर्ष के राजा शनि देव और मंत्री गुरु होंगे.


विक्रम संवत 2079 का राजा कौन है? | Who is the king of Vikram Samvat 2079 in Hindi?

राजा शनिदेव एवं मंत्री देव गुरु बृहस्पति के होने से यह संवत्सर साधारण एवं सामान्य शुभ फलप्रदायक होगा.


शुक्ल पक्ष कब है 2022? | When is Shukl Paksh in 2022 in Hindi

3 मार्च 2022 से फाल्गुन मास का शुक्ल पक्ष प्रारंभ हो रहा है. धार्मिक दृष्टि से फाल्गुन शुक्ल पक्ष को विशेष माना गया है.


हिन्दू नव वर्ष 2022 ( Hindu Nav Varsh 2022)| भारतीय नव वर्ष 2022 | हिन्दू नव वर्ष 2022 की हार्दिक शुभकामनाएं |नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं संदेश 2022 | नव-संवत्सर 2079 की शुभकामनाएंं | Navsamvatsar 2079 की शुभकामनाएं | हिन्दू नव वर्ष 2022 images | हिन्दू नव वर्ष 2022 फोटो | Hindu new year 2022 | Hindu new year 2022 date| Hindu new year 2022 images | Hindu new year 2022 photo 



यह भी पढ़े


1 Bharat Shreshtha Bharat | Atmanirbhar Bharat

गौतम बुद्ध का जीवन परिचय (Gautam Buddha - The Great Preacher)

Ek Bharat Shreshtha Bharat Abhiyan kya hai | What is Ek Bharat Shreshtha Bharat scheme

माथेरान - मुंबई महाराष्ट्र

How to maintain Health and Fitness in busy lifestyle

इलेक्ट्रिक गाड़ियां बदल देगी भारत का भविष्य ! | भारत में इलेक्ट्रिक कारों का भविष्य जानिए. 

Happy Chaitra Navratri 2021: Chaitra Navratri Photos Images Quotes Whatsapp Messages Greetings Pictures download

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने